Teri Fikar Shayari In Hindi | फिक्र शायरी

fikar shayari in hindi का एक बेहतरीन लेख लिखा है,Fikar shayari in hindi,Fikar hindi shayari,Fikar shayari 2 line,Fikr shayari in hindi फिक्र शायरी

दोस्तो, आज हमने आपके लिए fikar shayari in hindi का एक बेहतरीन लेख लिखा है, जिसे लिखने में हमे हमारे पुराने दिन याद करने पड़े जिसकी फिक्र हम आज भी करते है, प्यार जो करते है हम आज भी उनसे तो आज आपको ये हमारा लिखा गया लेख जरूर पसंद आनेवाला है।


सबकी ज़िन्दगी में कोई न कोई तो होता है, जो हमारी फिक्र सबसे ज्यादा करता है चाहे वो कोई भी हो लेकिन ये तो सच है कि, अपनो की फिक्र अपने ही कर सकते है और कोई नही, उसी को तो प्यार कहते है।


आज का ये फिक्र शायरी इन हिंदी का लेख हमने बेफिक्र होकर लिखा है, जो बहुत ही खास और शायराना अंदाज़ में लिखा है, और इसे पढ़ने के बाद आपको अपने प्यार की फिक्र और कदर जरूर हो ही जाएगी।


Teri Fikar Shayari In Hindi | फिक्र शायरी


Teri Fikar Shayari In Hindi | फिक्र शायरी
Fikar shayari in Hindi

Table of content


  1. Fikar shayari in hindi
  2. Fikar hindi shayari
  3. Fikar shayari 2 line
  4. Fikr shayari in hindi
  5. फिक्र शायरी इन हिंदी


Fikar shayari in hindi


कोई फिकर करे या न करे मेरी,

हम खुद की फ़िक्र करना जानते है,

कितनी भी मुश्किलें क्यों न हो ज़िन्दगी में,

उनका सामना करना हम जानते है।


Koi fikar kare ya na kare meri,

Hum khud ki fikar karna jante hai,

Kitni bhi mushkilen kyon na ho zindagi me,

Unka samna karna hum jante hai..!

#


खुद की छोड़ दूसरों की फ़िक्र करते है लोग,

प्यार में खुद को भूल जाते है लोग,

जिसकी फ़िक्र सबसे ज्यादा करते है लोग,

वही आखिर धोखा दे जाते है लोग।


Khud ki chhod dusron ki fikar karte hai log,

Pyar me khud ko bhul jate hai log,

Jiski fikar sabse jyada karte hai log,

Wahi akhir dhokha de jate hai log..!

#


तेरी फ़िक्र क्यों न करूँ मैं,

तुझसे प्यार जो करता हु,

तू करे या न करे मुझसे प्यार,

मै तो सिर्फ तुझपे ही मरता हु।


Teri fikar kyu na karu mai,

Tujhse pyar jo karta hu,

Tu kare ya na kare mujhse pyar,

Mai to sirf tujhpe hi marta hu..!

#


एक बार ही मिलती है ज़िन्दगी,

इसे बेफिक्र जीना सीख लो,

दूसरों की फ़िक्र करना छोड़,

खुद की फ़िक्र करना सिख लो।


Ek baar hi milti hai zindagi,

Ise befikar jina sikh lo,

Dusro ki fikar karna chhod,

Khud ki fikar karna sikh lo..!

#



Fikar hindi shayari


रहते हो तुम दूर मुझसे,

फिर भी मुझसे ही प्यार तुम करते हो,

दूर रह कर भी फ़िक्र मेरी,

तुम खुद से भी ज्यादा करते हो।


Rehte ho tum dur mujhse,

Phir bhi mujhse hi pyar tum karte ho,

Dur reh kar bhi fikar meri,

Tum khud se bhi jyada karte ho..!

#


छोड़ दिया है तुमने मुझसे प्यार करना,

फिर भी मै तुमसे प्यार करता हु,

दिन रात यादों में तेरे खोया रहता हु,

बस तेरी फ़िक्र करता रहता हु।


Chhod diya hai tumne mujhse pyar karna,

Phir bhi mai tumse pyar karta hu,

Din raat yaadon me tere khoya rehta hu,

Bas teri fikar karta rehta hu..!

#


तुझसे प्यार किया करता था,

तेरी फ़िक्र किया करता था,

तुझे दूर से देख के ही,

मै अपने आप में ही खुश रहता था।


Tujhse pyar kiya karta tha,

Teri fikar kiya karta tha,

Tujhe dur se dekh ke hi,

Mai apne aap me hi khush rehta tha..!

#


तुझे बताकर तेरी फ़िक्र क्या करूँ मैं,

बिन बताये ही तेरी फ़िक्र करने में मज़ा आता है,

तू प्यार कर या ना कर मुझ से,

तुझे एक तरफा प्यार करने में ही मज़ा आता है।


Tujhe batakar teri fikar kya karu mai,

Bin bataye hi teri fikar karne me maza aata hai,

Tu pyar kar ya naa kar mujh se,

Tujhe ek tarfa pyar karne me hi maza aata hai..!

#



Fikarshayari 2 line


जब भी तेरा जिक्र करता हु मै,

दुनिया कहती है कितनी फ़िक्र है तुझे उसकी।


Jab bhi tera jikar karta hu mai,

Duniya kehti hai kitni fikar hai tujhe uski..!

#


तुम कैसी हो ये तो बताओ न मुझे,

तेरी फ़िक्र रहती है मुझे।


Tum kaisi ho ye to batao na mujhe,

Teri fikar rehti hai mujhe..!

#


किसी की फिकर ज्यादा करना छोड़ दिया हमने,

अब किसी से दिल लगाना छोड़ दिया हमने।


Kisi ki fikar jyada karna chhod diya humne,

Ab kisi se dil lagana chhod diya humne..!

#


सबसे ज्यादा फिक्र करता हु मै उसकी,

जिसने बात करना छोड़ दिया है मुझसे।


Sabse jyada fikar karta hu mai uski,

Jisne baat karna chhod diya hai mujhse..!

#



Fikr shayari in hindi


इस ज़िन्दगी में खुद का रास्ता,

खुद ही बनाना पड़ता है,

दुसरो की फिकर छोड़,

पहले अपनी फ़िक्र करना पड़ता है।


Iss zindagi me khud ka rasta,

Khud hi banana padta hai,

Dusro ki fikar chhod,

Pehle apni fikar karna padta hai..!

#


उन्हें मेरी फ़िक्र कहा,

मै कैसा भी रहु इधर,

बस वो खुश रहे उधर,

हम प्यार करते है उनसे इस कदर।


Unhe meri fikar kaha,

Mai kaisa bhi rahu idhar,

Bas wo khush rahe udhar,

Hum pyar karte hai unse iss kadar..!

#


नसीब से मिलता है फ़िक्र करने वाला,

बस उसकी कदर करने वाला चाहिए,

नफरत छोड़ दिल में बस प्यार होना चाहिए।


Naseeb se milta hai fikar karne wala,

Bas uski kadar karne wala chahiye,

Nafrat chhod dil me bas pyar hona chahiye..!

#


तू कितनी भी नफरत कर ले मुझसे,

प्यार तो तू मुझसे ही करती है,

तू दूर तो रहती है मुझसे,

लेकिन फ़िक्र तो तुम मेरी ही करती है।


Tu kitni bhi nafrat kar le mujhse,

Pyar to tu mujhse hi karti hai,

Tu dur to rehti hai mujhse,

Lekin fikar to tum meri hi karti hai..!

#



फिक्र शायरी इन हिंदी


सबसे ज्यादा फ़िक्र करता था मै किसी की,

आज सिर्फ यादें रह गयी मेरे पास उसी की,

अब किसी से दिल भी नहीं लगता मेरा,

बस यादों में खोया रहता हु मै उसी की।


Sabse jyada fikar karta tha mai kisi ki,

Aaj sirf yaadein reh gayi mere paas usi ki,

Ab kisi se dil bhi nahi lagta mera,

Bas yaadon me khoya rehta hu mai usi ki..!

#


नहीं रहना है मेरे दिल में,

तो मत रह मेरी जानेमन,

बस मेरी फ़िक्र करना मत छोडना तुम,

जब ये फ़िक्र प्यार में बदल जाये,

तो सच में बता देना मुझे तुम।


Nahi rehna hai mere dil me,

To mat reh meri janeman,

Bas meri fikar karna mat chhodna tum,

Jab ye fikar pyar me badal jaye,

To sach me bata dena mujhe tum..!

#


मै तो सिर्फ फ़िक्र कर सकता हु तेरी,

लेकिन जब भी मैं होटल में जाता हूँ,

तो तेरा जिक्र वह के वेटर जरूर करते है,

कहते है मैडम नहीं आई आज।


Mai to sirf fikar kar sakta hu teri,

Lekin jab bhi mai hotel me jata hu,

To tera jikar waha ke waiter jarur karte hai,

Kehte hai madam nahi aayi aaj..!

#


अब बेफिक्र रहा करो तुम,

मेरी फ़िक्र करना छोड़ दो,

हो सके तो इतना करना,

मुझे आय हेट यू बोल दो।


Ab befikr raha karo tum,

Meri fikar karna chhod do,

Ho sake to itna karna,

Mujhe i hate you bol do..!

#


इसे भी पढ़े : 



कुछ आखरी शब्द :


आज जो हमने fikar shayari in hindi पर लेख लिखा है, वो आपने पूरा पढ़ ही लिया होगा, अगर नही पढा तो जरूर पढ़कर हमे बताओ कि आपको इस फिक्र बेफिक्र शायरी का लेख कैसा लगा।


आशा करता हु की हमारा ये fikr hindi shayari का लेख आपको जरूर अच्छा लगा होगा, अगर अच्छा लगा हो तो ऐसेही हिंदी शायरी यहाँ पढ़ते रहे।

एक टिप्पणी भेजें