नए साल पर हिंदी कविताएँ | Poem On New Year In Hindi (2022)

आज हमने poem on new year in hindi में कई कविता लिखी है, जिससे आपको इन नए साल की कविता से कुछ सीखने को भी मिल सकता है, जिससे आप इस नए वर्ष पर कविता

दोस्तों, आज हमने poem on new year in hindi में कई कविता लिखी है, जिससे आपको इन नए साल की कविता से कुछ सीखने को भी मिल सकता है, जिससे आप इस नए वर्ष पर कुछ नया सोच सके और उन्हें अपने जीवन मे लागू कर सके।


आपको तो पता ही है कि, जब भी नया साल आता है, तो नई सोच नई उम्मीदे लेकर आता है, और इसका हमे बेसब्री से इंतज़ार रहता है, ताकि हम आनेवाले नए साल में अपने लिए और लोगों के लिए कुछ नया कर सके, जिससे हमारा और हमारे देश के लोगों का भविष्य सफल हो रहे।


एक बात तो पक्की है कि, की जब भी नया साल आता है, तब लोगों के मन मे नई सोच अपने आप ही जनम लेती है, और उनपर लोग काम भी करते है, की नए साल में मैं ये करूंगा वो करूंगा, लेकिन कितने लोग अपनी नई सोच पर टिके रहते है, और उन्हें पूरा करते है, ये तो पता नही लेकिन हम अपनी नई सोच पर टिके रहे और उसे पूरा करे, तो हमारे देश का भविष्य सफल होगा।


इसीलिए आज हमने कुछ नए साल पर हिंदी कविताएँ लिखी है, जो कुछ सिखाती भी है, और हँसाती भी है, तो आइए poetry कविता पढ़के हँसते भी है, और कुछ सीखते भी है।


नए साल पर हिंदी कविताएँ | Poem On New Year In Hindi


नए साल पर हिंदी कविताएँ | Poem On New Year In Hindi
Poem on new year in hindi

Best poem for new year in hindi


आया आया नया साल ये आया,

सबके लिए खुशियाँ ले आया।


नई किरण नई उम्मीदे लाया,

नए साल का पहला दिन आया।


पहले दिन से ही कुछ नया करना है,

देश का भविष्य सफल करना है।


नई सोच के साथ चलना है,

उसपे हमे काम करना है।


युवाओं को आगे आना है,

दुनिया मे देश का नाम रोशन करना है।


बंद आँखें अब हमें खोलना है,

सफलता की ओर आगे बढ़ना है।


हर मुश्किलों का सामना करना है,

हर मुश्किलों को पीछे छोड़ना है।


एक दिन ऐसा आएगा,

पूरे देशवासियों को आप पर गर्व हो जाएगा।


नए साल में कुछ नया करके तो देखो,

नई सोच दिल मे जगाकर तो देखो।


आया आया नया साल ये आया,

सबके लिए खुशियाँ ले आया।



हैप्पी न्यू ईयर कविता


Aaya aaya naya saal ye aaya, 

Sabke liye khushiyaan le aaya..!


Nayi  kiran nayi ummide laaya, 

Naye saal ka pehla din aaya..!


Pahle din se hi kuchh naya karna hai, 

Desh ka bhavishya saphal karna hai..!


Nayi soch ke saath chalna hai, 

Uspe hame kaam karna hai..!


Yuvaon ko aage aana hai, 

Duniya me desh ka naam roshan karna hai..!


Band aankhen ab hame kholna hai, 

Safalta ki aur aage badhana hai..!


Har mushkilon ka saamna karna hai, 

Har mushkilon ko peeche chhodna hai..!


Ek din aisa aayega, 

Poore deshavaasiyon ko aap par garv ho jayega..!


Naye saal mein kuchh naya karke to dekho, 

Nayi soch dil me jaga kar to dekho..!


Aaya aaya naya saal ye aaya, 

Sabke liye khushiyaan le aaya..!



नए साल पर हिंदी कविता


आओ चलो सीखे कुछ खास,

नए साल का स्वागत करके आज।


नए साल का पहला दिन है आज,

सोचो क्या करना है हमे आज।


चलो कुछ नया करते है हम आज,

देना है सभी को आज हमारा साथ।


चलो तो अब हम शुरू करते है,

आज हम कुछ अच्छा करते है।


पौधों को लगाना है हमे आज,

आप सब दोगे ना हमारा साथ।


बंजर जमीन को हरी भरी बनाना है आज,

तब लगेगी वो सुंदर और खास।


हमे पौधों को पानी देना है,

सुबह शाम रोज देना है।


पानी से हमको याद है आया,

पानी को हमे ही है बचाना।


पानी ही जीवन है हमारा,

उसको बचाना काम हमारा।


नए साल में मैं कुछ सिख के आया,

पहले दिन ही कुछ नया कर पाया।


आज हमने नया साल मनाया,

नए साल का पहला दिन मनाया।


आओ चलो सीखे कुछ खास,

नए साल का स्वागत करके आज।



Poems on new year hindi


Aao chalo seekhe kuchh khaas, 

Naye saal ka swagat kar ke aaj..!


Naye saal ka pehla din hai aaj, 

Socho kya karna hai hame aaj..!


Chalo kuch naya karte hai hum aaj, 

Dena hai sabhi ko aaj hamara saath..!


Chalo to ab ham shuroo karte hai, 

Aaj ham kuchh achchha karte hai..!


Paudhon ko lagana hai hame aaj, 

Aap Sab doge na hamara saath..!


Banjar zameen ko hari bhari banana hai aaj, 

Tab lagegi wo sundar aur khaas..! 


Hame paudhon ko pani dena hai, 

Subah shaam roj dena hai..! 


Pani se humko yaad hai aaya, 

Pani ko hame hi hai bachana..!


Pani hi jeevan hai hamara, 

Usko bachana kaam hamara..!


Naye saal mein main kuchh sikh ke aaya, Pehle din hi kuch naya kar paya..!


Aaj humne naya saal manaya, 

naye saal ka pehla din manaya..!


Aao chalo seekhe kuchh khaas, 

Naye saal ka swagat kar ke aaj..!



Short poem on new year in hindi


नया साल ये कितना प्यारा,

सबका दुलारा सबसे न्यारा।


टाटा बाय बाय पुराने साल को हमारा,

स्वागत है नया साल तुम्हारा।


पुराने साल ने हमे बहुत कुछ है सिखाया,

तुमने भी है हमे कुछ नया सिखाना।


छुट्टियां जल्दी जल्दी है लाना,

एकसाथ ज्यादा छुट्टियों का दिन तुम लाना।


सभी ऋतु को वक़्त पर ही लाना,

सभी मौसम का मजा दे जाना।


बारिश को जमके बरसाना,

हमे खेत में अच्छी फसल है उगाना।


धूप के मौसम में गर्मी कर जाना,

हमने भी ठंडे पानी से है नहाना।


ठंडी के मौसम में गीत है गाना,

घर मे ही रहना बाहर मत जाना।


नए साल ऐसे ही तुम रहना,

बिल्कुल हमे परेशान ना करना।


नया साल ये कितना प्यारा,

सबका दुलारा सबसे न्यारा।



नए साल पर छोटीसी कविता


Naya saal ye kitna pyaara, 

Sabka dulara sabse nyara..!


Taata baay baay puraane saal ko hamaara, 

Swagat hai naya saal tumhara..!


Purane saal ne hame bahut kuch hai sikhaya, 

Tumne bhi hai hame kuch naya sikhana..!


Chhuttiyan jaldi jaldi hai laana, 

Ek sath jyada chuttiyon ka din tum laana..!


Sabhi rutu ko waqt par hi laana, 

Sabhi mausam ka maja de jaana..!


Barish ko jam ke barsana, 

Hame khet mein achi fasal hai ugaana..!


Dhoop ke mausam mein garmi kar jaana, 

Humne bhi thande pani se hai nahana..!


Thandi ke mausam mein geet hai gaana, Ghar me hi rahna bahar mat jaana..!


Naye saal aise hi tum rahna, 

Bilkul hame pareshan na karna..!


Naya saal ye kitna pyaara, 

Sabka dulara sabse nyara..!



नए साल की कविता दोस्तों के लिए


आओ सारे दोस्त आओ,

मिलके सब नया साल मनाओ।


सब मिलके एकसाथ मनाओ,

नए साल का जश्न मनाओ।


बडा सा एक केक तुम लाओ,

उसको कांट कर सब खा जाओ।


थोड़ा थोड़ा सबको दे जाओ,

नए साल की बधाई दे जाओ।


गरीबों को खाना दे जाओ,

नए साल की खुशियां बाँट जाओ।


नए साल की कविता सुनाओ,

चेहरे पे उनके मुस्कान लाओ।


एक नई दिशा की ओर बढ़ जाओ,

तरक्की की सीढ़ियां तुम चढ जाओ।


पक्की दोस्ती तुम खूब निभाओ,

दोस्ती की मिसाल बन जाओ।


अच्छा काम तुम करते जाओ,

नया साल ऐसाही तुम मनाते जाओ।


आओ सारे दोस्त आओ,

मिलके सब नया साल मनाओ।



Poem on new year for friends in hindi


Aao saare dost aao, 

Mil ke sab naya saal manao..!


Sab mil ke ek saath manao, 

Naye saal ka jashn manao..!


Bada sa ek cake tum lao, 

Usko kaant kar sab kha jao..!


Thoda thoda sabko de jao, 

Naye saal ki badhai de jao..! 


Garibon ko khana de jao, 

Naye saal ki khushiyan baant jao..!


Naye saal ki kavita sunao, 

Chehare pe unke muskaan lao..!


Ek nayi disha ki or badh jao, 

Tarakki ki sidhiyaan tum chadh jao..!


Pakki dosti tum khoob nibhao, 

Dosti ki misaal ban jao..!


Accha kaam tum karte jao, 

Naya saal aisa hi tum manaate jao..!


Aao saare dost aao, 

Mil ke sab naya saal manao..!



नव वर्ष पर हिंदी कविता (Poetry)


जिंदगी के सफर में नए लोग तो आते जाते है,

नव वर्ष में हम उनको भी आजमाते है।


दुनिया मे हर लोग कमाते है,

कुछ हार जाते है तो कुछ जीत जाते है।


कुछ नया करने के लिए हम जीते है,

कुछ नया करके मर जाते है।


नाराज ना होना एक ही जिंदगी है,

कुछ कर दिखाना एक ही जिंदगी है।


अगर ठान लो कुछ अलग करने का तुम,

तो तुम मुश्किलों से आगे बढकर कर दिखाते है।


सफलता की सीढिया चढ़ना हो तुम्हे,

तो पूरे होंसले से चढ जाते है।


हो साल नया या पुराना,

आगे बढ़ते जाते है।


अपनी मंज़िल कितनी भी लंबी हो,

वो पूरा तह कर जाते है।


हर नए साल अपना जज़्बा बढाते जाते है,

अपनी मंजिल आप खुद पा जाते है।


जिंदगी के सफर में नए लोग तो आते जाते है,

नव वर्ष में हम उनको भी आजमाते है।



Nav varsh par hindi kavita


Zindagi ke safar mein naye log to aate jaate hai, 

Nav varsh mein hum unko bhi aajmate hai..!


Duniya me har log kamate hai, 

Kuchh haar jaate hai to kuchh jeet jaate hai..!


Kuchh naya karne ke liye hum jeete hai, Kuchh naya kar ke mar jaate hai..!


Naraz na hona ek hi zindagi hai, 

Kuchh kar dikhana ek hi zindagi hai..!


Agar thaan lo kuch alag karne ka tum, 

To tum mushkilon se aage badhkar kar dikhate hai..!


Safalta ki seedhi chadna ho tumhe, 

To poore honsale se chadh jaate hai..!


Ho saal naya ya purana, 

Aage badhate jaate hai..!


Apani manzil kitni bhi lambi ho, 

Wo poora tah kar jaate hai..!


Har naye saal apna jazba badhate jaate hai, 

Apni manzil aap khud pa jaate hai..!


Zindagi ke safar mein naye log to aate jaate hai, 

Nav varsh mein hum unko bhi aajmate hai..!



इसे भी पढ़


कुछ आखरी शब्द :


poem on new year in hindi आपने पूरी पढ़ ली हो तो आपको जरूर हमारे इस नए साल पर हिंदी कविता से कुछ सीखने को मिला होगा, क्योंकि हमने इन कविताओं में युवाओं के लिए कुछ अच्छे संदेश भी दिए है, जिससे हर युवा प्रेरित हो सके, और अपने और अपने देश के लिए कुछ अच्छा कर सके।


आशा करता हु की हमारी नए साल की कविताएँ आपको जरूर अच्छी लगी होगी। अगर अच्छी लगी हो तो ऐसेही हिंदी कविता यहाँ पढ़ते रहे।

एक टिप्पणी भेजें