फुर्सत के पल शायरी | Fursat Ke pal Shayari In Hindi | फुरसत

दोस्तों fursat ke pal shayari हिंदी में आपके लिए लेकर आये है तो इसे फुर्सत से पढियेगा।फुर्सत के पल अगर ना मिले तो ये जिंदगी के लम्हे कैसे जी पाएंगे

हेल्लो दोस्तों fursat ke pal shayari हिंदी में आपके लिए लेकर आये है तो इसे फुर्सत से पढियेगा।फुर्सत के पल अगर ना मिले तो ये जिंदगी के लम्हे कैसे जी पाएंगे हम भला। इसीलिए हम ये शायरी के माध्यम से कुछ बताना चाहते है जोकी बहोत आवश्यक बात है।


आजकल तो अपने ही अपनो को छोड़ जाते है। शायद ये कुछ दूरियों के कारण होता है या कुछ अनबन होने पर ये तो हम देखते ही आ रहे है हर रिलेशन मे कुछ तो होता ही है। लेकीन क्या आप ने सोचा है कि ये क्यु होता है? अगर नही तो इसका उत्तर इस फुर्सत के पल शायरी मे जरूर मिलेगा आप को।


जिसे हमने बड़े ही सोच समझ कर लिखा है ताकि आप इसका उत्तर तो जान ही सकेंगे साथ साथ आप फुरसत शायरी से अपनो को मना भी लेंगे।


फुर्सत के पल शायरी | Fursat Ke pal Shayari In Hindi | फुरसत शायरी


फुर्सत के पल शायरी | Fursat Ke pal Shayari In Hindi | फुरसत
fursat ke pal shayari image

फुर्सत के पल शायरी


दो पल की जिंदगानी है,

ये ज़िन्दगी कभी तो जानी है,

आज मिल भी लो फुरसत हो तो,

क्योंकि मौत तो सबको एक दिन आनी है।


Do pal ki zindgani hai,

Ye zindagi kabhi toh jani hai,

Aaj mil bhi lo fursat ho to,

Kyon ki maut to sabko ek din aani hai..!

#


अक्सर कहते है लोग,

की दो पल की ज़िंदगानी है,

इसीलिए मिल भी लो हमसे थोड़ा,

ये पहली फुरसत से निकल कहने की,

दुनिया दीवानी है।


Aksar kehte hai log,

Ki do pal ki zindgani hai,

Isiliye mil bhi lo humse thoda,

Ye pehali phurasat se nikal kehne ki,

Duniya deewani hai..!

#


जो कहता है कभी फुरसत से मिलेंगे हम,

वो लोग अकसर मिलते ही नही,

छोड़कर जाते है पर बताते ही नही।


Jo kehta hai kabhi fursat se milenge hum,

Wo log aksar milte hi nahi,

Chhod kar jate hai par batate hi nahi..!

#


लोगों से फुरसत ना मांगो कभी,

मांगना हो तो सिर्फ दुआ मांगो,

लोग फुरसत से निकल जाते है,

हमे छोड़ के बेहोश कभी।


Logon se fursat na mango kabhi,

Mangna ho to sirf dua mango,

Log fursat se nikal jate hai,

Hume chod ke behosh kahi..!

#


इश्क़ करो बेपरवाह उनसे,

लेकिन इश्क़ ना मांगो कभी उनसे,

हु मै पसंद उन्हें तो इश्क़ कर ही लेगी,

नही तो बिना बताए फुर्सत से छोड़ जाएगी।


Ishq karo beparwah unse,

Lekin ishq na mango kabhi unse,

Hu mai pasand unhen to ishq kar hi legi,

Nahi to bina bataye fursat se chhod jayegi..!



फुरसत पर शायरी


गए वो दिन,

गयी वो रातें,

जब करते थे दोनो हम,

फुरसत से रात भर बातें।


Gaye wo din,

Gayi wo raatein,

Jab karte the dono hum,

Fursat se raat bhar baatein..!

#


जरा देख भी लिया करो,

जरा हस भी लिया करो,

अगर मेरी थोड़ी भी याद आये,

तो फुरसत से मिल भी लिया करो।


Jara dekh bhi liya karo,

Jara has bhi liya karo,

Agar meri thodi bhi yaad aaye,

To fursat se mil bhi liya karo..!

#


दिन भर मेहनत करते हो,

थोड़ा थक से जाते हो,

मिलना तो होता है अपको हमसे,

फिर क्यु फुरसत नही निकाल पाते हो।


Din bhar mehnat karte ho,

Thoda thak se jaate ho,

Milna to hota hai apko humse,

Phir kyu fursat nahi nikal pate ho..!

#


शाम की बारिश याद आ गयी,

तुम मुझे बहुत याद आ गयी,

मिलने तो पहुँचा फुरसत से तुझे,

लेकिन तेरी शादी हो गयी ये बात याद आ गयी।


Sham ki barish yaad aa gayi,

Tum mujhe bahut yaad aa gayi,

Milne to pahuncha fursat se tujhe,

Lekin teri shadi ho gayi ye baat yaad aa gayi..!

#


फुरसत किसको है इस जमाने मे,

किसीको किसीसे मिलने की अब,

मिला तो बस वही करते है,

जो दिल से किसीको प्यार करते है।


Fursat kisko hai is zamane me,

Kisi ko kisi se milne ki ab,

Mila to bas vahi karte hai,

Jo dil se kisi ko pyaar karte hai..!



फुरसत शायरी | Fursat Shayari in Hindi


तेरे प्यार करने का अंदाज़ पसंद आया,

प्यार को जताने का अंदाज़ पसंद आया,

तुम पास हो या दूर हमसे,

ये फुरसत से हमे मिलने को आने का अंदाज़ पसंद आया।


Tere pyaar karne ka andaz pasand aaya,

Pyaar ko jatane ka andaz pasand aaya,

Tum paas ho ya door humse,

Ye fursat se hume milne ko aane ka, 

Andaz pasand aaya..!

#


ये फुरसत अल्फ़ाज़ भी बड़ा प्यारा है,

फुरसत से आऊंगा बोल कर लोग,

मिलने आते ही नही।


Ye fursat alfaaz bhi bada pyara hai,

Fursat se aaunga bol kar log,

Milne aate hi nahi..!

#


वक़्त है अभी मिलने का,

ना मिलो तो sorry बोलने का,

प्यार मे ऐसा होता रहता है,

फुरसत से वक़्त निकालना ही पड़ता है।


Waqt hai abhi milne ka,

Na milo to sorry bolne ka,

Pyaar me aisa hota rehta hai,

Fursat se waqt nikalna hi padta hai..!

#


मेरा प्यार अगर कम पड़े,

तो समझ लेना फुरसत नही मिली होगी,

अगर वो भी ना समझ पाए,

तो समझ लेना वो अपने नफरत की घड़ी होगी।


Mera pyaar agar kam pade,

To samajh lena fursat nahi mili hogi,

Agar wo bhi na samajh paye,

To samajh lena wo apne nafrat ki ghadi hogi..!

#


कुछ बातें समझ मे नही आती फुरसत की,

अगर प्यार मे फुरसत ना मिले, 

एक दूजे से मिलने की,

तो लोग धमकियां देते है छोड़ जाने की।


Kuch baatein samajh me nahi aati fursat ki,

Agar pyaar me fursat na mile, 

Ek dooje se milne ki,

To log dhamkiyan dete hai chod jane ki..!



Fursat ke lamhe shayari


लम्हे नही मिलते ऐसे फुरसत के,

किसी की शादी मे जा भी लिया करो,

शायद किसी के नजरो से नजर मिल जाये,

और जाने अनजाने मे प्यार ही हो जाये।


Lamhe nahi milte aise fursat ke,

Kisi ki shadi me ja bhi liya karo,

Shayad kisi ke najro se najar mil jaaye,

Aur jaane anjane mein pyar hi ho jaaye..!

#


फुरसत के लम्हे बिताया करो,

अपनो के साथ घूमने जाया करो,

क्या पता ज़िन्दगी कब दो पल की हो जाये,

और अपने ही अपनोसे कही दूर ना निकल जाए।


Fursat ke lamhe bitaya karo,

Apno ke sath ghumne jaaya karo,

Kya pata zindagi kab do pal ki ho jaaye,

Aur apne hi apno se kahin door na nikal jaye..!

#


फुरसत के लम्हे गुजारे है हमने,

तुम्हारे साथ वो वक़्त बिताए है हमने,

तभीभी छोड़ गई तुम हमे अकेला,

बिना तुम्हारे अकेले कितनी रातें, 

बिना सोये गुजारी है हमने।


Fursat ke lamhe gujare hai humne,

Tumhare sath wo waqt bitaye hai humne,

Tabhibhi chod gayi tum hume akela,

Bina tumhare akele kitni raatein, 

Bina soye gujari hai humne..!

#


प्यार उनको भी है हमसे,

प्यार हमको भी है उनसे,

बस अब मिलना ही बाकी था,

फुरसत से प्यार के लम्हे,

गुजारना ही तो बाकी था।


Pyaar unko bhi hai humse,

Pyar humko bhi hai unse,

Bas ab milna hi baki tha,

Fursat se pyaar ke lamhe,

Gujarna hi to baki tha..!

#


जरा मूड मूड के तो देख लिया करो,

बस आगे ही मत चल दिया करो,

थोड़ी फुरसत से ये प्यार के लम्हे तो गुजार लिया करो।


Jara mud mud ke to dekh liya karo,

Bas aage hi mat chal diya karo,

Thodi fursat se ye pyaar ke lamhe to gujaar liya karo..!



Unhe fursat nahi shayari


उन्हें फुरसत नही हमसे मिलने की,

एक गरम चाय हमारे साथ पीने की,

बोलते है प्यार करते है हम तुमसे,

कभी कोशिश तो कीजिये प्यार को जताने की।


Unhen fursat nahi haumse milne ki,

Ek garam chai hamare sath pine ki,

Bolte hain pyaar karte hai hum tumse,

Kabhi koshish to kijiye pyaar ko jatane ki..!

#


फुरसत से मिला करो,

ये वक़्त नही है मिलने का,

बाहर अंधेरा बहुत छाया है,

ये वक़्त नही है long drive पर जाने का।


Fursat se mila karo,

Ye waqt nahi hai milne ka,

Baahar andhera bahut chhaaya hai,

Ye waqt nahi hai long drive par jaane ka..!

#


थम सा गया है ये दिन,

तुम्हारा मुझको मिलने ना आने पर,

टूट सा गया है ये दिल,

फुरसत नही है बोल के,

मुझे अकेला छोड़ जाने पर।


Tham sa gaya hai ye din,

Tumhara mujhe milne na aane par,

Toot sa gaya hai ye dil,

Fursat nahi hai bol ke,

Mujhe akela chhod jaane par..!

#


फुरसत ना मिले तो नजर मत आना,

मुझे छोड़ कही और चले जाना,

अगर करती हो इश्क़ मुझसे बेइंतेहा,

तो फुरसत निकाल के मुझसे मिलने जरूर आना।


Fursat na mile to najar mat aana,

Mujhe chhod kahin aur chale jaana,

Agar karate ho ishq mujh se beinteha,

To fursat nikal ke mujhse milne jarur aana..!

#


करते हो प्यार हमसे,

तो जताया भी कर लिया करो,

बाहों मे भी आया करो,

थोड़ी फुरसत निकाल के।


Karte ho pyaar humse,

To jataya bhi kar liya karo,

Bahon mein bhi aaya karo,

Thodi fursat nikal ke..!



सुकून के पल शायरी


बड़ी फुरसत के बाद मिले ये सुकून के पल,

जिंदगी जीने के ये बेहतरीन पल,

दर्द भरी जिंदगी बहुत जी ली अब हमने,

आखिर लौट आए अब वो मेरे खुशियों के पल।


Badi fursat ke baad mile ye sukoon ke pal,

Zindagi jeene ke ye behtareen pal,

Dard bhari zindagi bahut ji li ab humne,

Aakhir laut aaye ab wo mere khushiyon ke pal..!

#


खुशियाँ तो आती जाती रहती है,

ज़िन्दगी तो वो है जो सुकून भरी हो।


Khushiyaan to aati jaati rehti hai,

Zindagi to wo hai jo sukoon bhari ho..!

#


आने से उसके खुशियाँ जरूर आयी,

लेकिन सुकून ने रुख मोड़ लिया।


Aane se uske khushiyaan jarur aayi,

Lekin sukoon ne rukh mod liya..!

#


आबाद होती है वो ज़िन्दगी,

जहाँ सुकून मिलता है,

जहाँ सुकून नही,

वहाँ जी के भी क्या फायदा।


Aabaad hoti hai wo zindagi,

Jahaan sukoon milta hai,

Jahaan sukoon nahi,

Wahan ji ke bhi kya fayda..!

#


दे जा सुकून के पल पलभर मे,

गिर गया हूं मै आखिर तेरे ही प्यार मे,

ज़िन्दगी थोडी ही बाकी रह गयी है अब मेरी,

जी रहा हु मै थोड़ा तेरी ही इंतेजार मे।


De ja sukoon ke pal pal bhar me,

Gir gaya hoon mai aakhir tere hi pyaar me,

Zindagi thodeli hi baki rah gayi hai ab meri,

Jee raha hu mai thoda teri hi intezar me..!



इसे भी पढ़े :

Sawan ki pehli barish shayari in hindi


कुछ आखरी अल्फ़ाज़:


बात ये है कि fursat ke pal shayari हिंदी में लिखने से हमको बडा सुकून मिला तो आपको पढ़ के कितना सुकून मिला होगा ये तो आप ही बता सकते हो क्योंकि आपको तो अबतक आपका उत्तर इस फुर्सत के पल शायरी पढ़ के मिल ही गया होगा।


अगर उत्तर मिल गया हो तो जरूर बताओ ताकि हम समझ सके कि हमारी लिखी फुरसत पर शायरी सफल हुई और ज्यादा से ज्यादा लोग इसे पढ़े यही आशा करता हु।

एक टिप्पणी भेजें