दोस्तों bichadne ki shayari in hindi आर्टिकल मे आपका स्वागत है।यहाँ आपको आपका बिछड़ा प्यार जरूर याद आएगा और दूर हो जाने पर आपको कैसा महसूस होता है ये इस बिछड़े शायरी मे आपको पढ़ने को मिलेगा।


कोई हमे छोडकर दूर जब जाता है चाहे वह आपका प्यार हो या कोई अपना हो या कोई दोस्त दूर हो जाता है तब बडा दर्द होता है दिलको तब आँख से आँसू निकल ही जाते है।


बिछड़े वक़्त मे भी कोई ऐसा दोस्त होता है जो हमारा हमेशा साथ देता है मेरे साथ भी ऐसा हो चुका है इसीलिए मैने सोचा dur ho jane ki judai shayari क्यों ना लिखी जाए तो मैने मेरा दर्द इस बिछड़े शायरी मे लिखा है इसे जरूर पढ़ें।


Bichadne Ki Shayari In Hindi | Dur Ho Jane Ki Shayari 


Bichadne Ki Shayari In Hindi | Dur Ho Jane Ki Shayari
bichadne ki shayari image

Bichadne ki shayari hindi - दूर हो जाने वाली शायरी


तुम्हे भूल कभी ना पाऊंगा,

तुझसे दूर कभी ना जाऊंगा,

क्या हुआ थोड़ी दूरी है हमारे बीच मे,

ये फांसले मिटाके तेरे पास जरूर आऊंगा।


Tumhe bhool kabhi na paunga, 

Tujhse dur kabhi na jaunga, 

Kya hua thodi doori hai hamare bich me, 

Ye fasle mitake tere paas jarur aaunga..!

-#-


दर्द तो बहुत हुआ,

तुमसे दूर हो जाने पर,

मै अंधेरे कमरे मे खूब रोया,

तुमसे बिछड़ जाने पर।


Dard to bahut hua, 

Tumse dur ho jane par, 

Mai andhere kamre me khoob roya, 

Tumse bichhad jane par..!

-#-


इतने पास होके भी,

पास नही होती हो,

मुझे देख के हमेशा,

क्यो दूर चली जाती हो।


Itne paas hoke bhi, 

Paas nahi hote ho, 

Mujhe dekh ke hamesha, 

Kyon door chale jaate ho..!

-#-


वो भी क्या दिन थे,

7 बजे हम बाहर जाते थे,

8 बजे वापस लौट आते थे,

उसके बाद हम फिरसे बिछड़ जाते थे।


Wo bhi kya din the, 

7 baje hum bahar jate the, 

8 baje wapas laut aate the, 

Uske baad hum phir se bichad jaate the..!

-#-


वापस कभी लौट ना आऊंगा,

तुमसे बहुत दूर चला जाऊंगा,

दिल ने बहुत दर्द सह लिया मेरे,

अब बस किसी को दिल मे नही बसाउंगा।


Wapas kabhi laut na aunga,

Tumse bahut door chala jaunga,

Dil ne bahut dard sah liya mere,

Ab bas kisi ko dil me nahi basaunga..!



Pyar me bichadne ki shayari in hindi


प्यार मे दूर रहने का,

एक अलग ही नशा है,

तेरा प्यार जो मेरे दिल मे बसा है।


Pyaar me door rehne ka,

Ek alag hi nasha hai,

Tera pyaar jo mere dil me basa hai..!

-#-


अकेला सा रहता हूं,

खुद से बातें करते,

कभी कभी खुद को भूल जाता हूं,

तुझसे दूर रहके।


Akela sa rehta hoon,

Khud se baaten karte,

Kabhi kabhi khud ko bhool jata hoon,

Tujhse dur rehke..!

-#-


झूठ बोलते रहे हम,

उन्हें सच बताकर,

हमसे दूर चले गए वो,

हमे कुछ ना बताकर।


Jhooth bolte rahe hum,

Unhen sach batakar,

Humse door chale gaye wo,

Hume kuch na bata kar..!

-#-


दूर रहकर भी तुम्हारा ही खयाल आता है,

दिल तोड़कर दूर जाने पर भी,

तुम्हारा प्यार याद आता है,

पता नही इस दिल को क्या हो जाता है।


Door reh kar bhi tumhara hi khayal aata hai,

Dil tod kar door jaane par bhi,

Tumhara pyaar yaad aata hai,

Pata nahi is dil ko kya ho jata hai..!

-#-


तेरी वो सुनसान गलियां याद आती है मुझे,

तेरा सुनसान गलियों मे, 

अकेले गुजरना याद आता है मुझे,

तेरा मुझसे मिलना याद आता है मुझे,

मिलके मुझसे दूर जाना याद आता है मुझे।


Teri wo sunsan galiyan yaad aati hai mujhe,

Tera sunsan galiyon me, 

Akele guzarna yaad aata hai mujhe,

Tera mujhse milna yaad aata hai mujhe,

Mil ke mujh se door jana yaad aata hai mujhe..!



Apno se bichadne wali shayari - बिछड़ना शायरी


दर्द यु ही नही मिलता जनाब,

शायर यु ही नही बनता,

बिछड़ना पड़ता है प्यार मे,

कलम से कागज़ पर दिल का,

दर्द लिखने के लिए।


Dard yu hi nahi milta janaab,

Shayar yu hi nahi banta,

Bichadna padta hai pyaar me,

Kalam se kagaz par dil ka,

Dard likhne ke liye..!

-#-


आँसू छुपते नही,

छुपाये जाते है मेरी जान,

दिल टूटते नही,

तोड़े जाते है मेरी जान।


Aansoo chupate nahi,

Chhupaye jaate hai meri jaan,

Dil tutte nahi,

Tode jate hai meri jaan..!

-#-


तेरे लिए प्यार हमेशा रहेगा मेरे दिल मे,

पर पता नही तू आएगी या नही,

बिछड़ने के बाद मुझसे मिलने।


Tere liye pyaar hamesha rahega mere dil me,

Par pata nahi tu aayegi ya nahi,

Bichhadane ke baad mujhse milne..!

-#-


प्यार करते करते वक़्त गुज़र गया,

कुछ ही दिनों मे कोई दूजा शख्स,

हमारे प्यार के रास्ते का कांटा बन गया,

और हमसे हमारा प्यार यु ही बिछड़ गया।


Pyaar karte karte waqt guzar gaya,

Kuchh hi dino me koi duja shakhs,

Hamare pyaar ke raste ka kanta ban gaya,

Aur humse hamara pyaar yu hi bichhad gaya..!

-#-


तरीके बहुत आजमाए तुमने,

हमसे दूर जाने के,

हमने तो आपका झूठ पकड़ लिया,

अब कोनसे रास्ते बचे है बिछड़ जाने के।


Tarike bahut aajmaye tumne,

Humse door jaane ke,

Hamne to aap ka jhoot pakad liya,

Ab konse raste bache hai bichhad jaane ke..!



Chhod kar jane wali shayari - door ho jane ki shayari


क्यों छोड़कर चली गयी तुम,

मेरा ये मासूम दिल तोड़कर,

अकेला सा रहता हूं अब,

तुमसे मै बिछड़कर।


Kyon chhod kar chali gayi tum,

Mera ye masum dil tod kar,

Akela sa rehta hoon ab,

Tumse mai bichhad kar..!

-#-


मुझे छोड़कर कभी नही जाएंगे कहने वाले,

मजबूरी का बहाना बनाकर छोड़कर चले गए,

आज किस्मत तो देखो उनकी,

सब उसे छोड़कर चले गए।


Mujhe chhod kar kabhi nahi jayenge kahne wale,

Majboori ka bahana bana kar chod kar chale gaye,

Aaj kismat to dekho unki,

Sab use chhod kar chale gaye..!

-#-


दिए तूने कसमे वादे,

ना जाऊंगी तुम्हे छोड़कर,

लाख रुकाने पर भी ना रुकी,

गयी तू आखिर मुझे छोडकर।


Diye tune kasme wade,

Na jaungi tumhe chhod kar,

Lakh rukane par bhi na ruki,

Gayi tu aakhir mujhe chhod kar..!

-#-


ए छोड़कर जाने वालों,

थोड़ा याद भी किया करो हमे,

कही दूर न चले जाएं इस दुनिया से हम,

कभी कॉल भी किया करो हमे।


Ae chhod kar jane walon,

Thoda yaad bhi kiya karo hume,

Kahin door na chale jaye is duniya se hum,

Kabhi call bhi kiya karo hume..!

-#-


एक दिन मुझे छोड़कर,

तुम भी चले जाना,

दिल तोड़कर ज्यादा नही,

बस थोड़ा ही रुला जाना।


Ek din mujhe chhod kar,

Tum bhi chale jaana,

Dil tod kar jyada nahi,

Bas thoda hi rula jaana..!



Judai wali shayari in hindi - प्यार मे जुदाई शायरी


आवारगी ने हद पार क्या कर ली,

दीवानगी ने मुह मोड़ लिया,

बस थोड़ा पास क्या चला गया उनके,

सालों के प्यार को मिनटों में जुदा कर गया।


Aawargi ne had paar kya kar li,

Deewangi ne muh mod liya,

Bas thoda paas kya chala gaya unke,

Saalon ke pyaar ko minton mein juda kar gaya..!

-#-


कुछ वक्त वो थे दूर हमसे

कुछ वक्त हम,

अलग हो गए रास्ते,

जुदा हो गए दोनो हम।


Kuchh waqt wo the door humse,

Kuchh waqt hum,

Alag ho gaye raste,

Juda ho gaye dono hum..!

-#-


तेरे प्यार मे जुदा होने का गम अब ना रहा,

तेरे प्यार मे खो के बिछड़ जाने का गम अब ना रहा,

तू थी ही बेवफा ए जानेमन,

तुझे याद करके रोने का मन अब ना रहा।


Tere pyar me juda hone ka gam ab na raha,

Tere pyaar me kho ke bichhad jaane ka gam ab na raha,

Tu thi hi bewafa e janeman,

Tujhe yaad kar ke rone ka man ab na raha..!

-#-


अक़सर प्यार मे धोखा खाते है कही लोग,

चेहरा देखकर प्यार करते है कही लोग,

उस चेहरे का नकाब उतरता है जब,

तब जुदाई का रास्ता पसंद करते है कही लोग।


Aksar pyar me dhokha khate hai kahin log,

Chehra dekh kar pyaar karte hai kahin log,

Us chehre ka nakaab utarta hai jab,

Tab judai ka raasta pasand karte hai kahin log.!

-#-


तोड़ के गयी वो दिल मेरा,

फिर भी क्यों याद आती है वो मुझे,

दिल का जखम अभी भरा भी नही,

क्यों उसे याद कर रोने लगाती है मुझे।


Tod ke gayi woh dil mera,

Phir bhi kyun yaad aati hai wo mujhe,

Dil ka zakhm abhi bhara bhi nahi,

Kyon use yaad kar rone lagati hai mujhe..!



दर्द जुदाई की शायरी 


समंदर की गहराइयों को,

झाँक के न देखो,

जुदाइयों का गम,

कभी आज़माकर ना देखो। 


Samandar ki gaharaiyon ko,

Jhaank ke na dekho,

Judaiyon ka gam,

Kabhi aazma kar na dekho..!

-#-


प्यार दे गया जुदाई हमे,

मजबूरी का बहाना बताकर,

छोड़ गई अकेला मुझे,

शादी का इनविटेशन कार्ड देकर।


Pyaar de gaya judai hume,

Majboori ka bahana bata kar,

Chhod gaye akela mujhe,

Shadi ka invitation card dekar..!

-#-


धोखा जब दिया था तुमने मुझे,

खुद से ही मै नाराज था,

क्यों किया था प्यार मैने तुझसे,

दर्द ए जुदाई का मै एक बना शिकार था।


Dhokha jab diya tha tumne mujhe,

Khud se hi mai naraz tha,

Kyon kiya tha pyar maine tujhse,

Dard e judai ka mai ek bana shikaar tha..!

-#-


इतने दिन पास रहने के बाद,

तू दूर जाने लगी थी,

शायद शक था तेरे प्यार पर,

जुदाई महसूस होने लगी थी।


Itne din paas rehne ke baad,

Tu door jaane lagi thi,

Shayad shak tha tere pyaar par,

Judai mahsoos hone lagi thi..!

-#-


याद करते है हम वो दिन,

जिस दिन तुम मेरे बाहों मे होती थी,

मुझसे दूर जाने के लिए,

मजबूरियां राहो मे होती थी।


Yaad karte hai hum woh din,

Jis din tum meri baahon mein hoti thi,

Mujhse door jaane ke liye,

Majbooriyan raaho me hoti thi..!


इसे भी पढ़े:


कुछ आखरी अल्फ़ाज़:


मेरे इस bichadne ki shayari in hindi मे लिखे मेरा दर्द आपको मैने यहां बिछड़ने वाली शायरी में बयां किया है जोकि आशा करता हु की ये आपको बहुत पसंद आया होगा।


अगर आपको ये dur ho jane ki judai shayari पसंद आयी हो तो जरूर बताएं। और आपको कौनसे टॉपिक पे शायरी चाहिए ये जरूर बताएं। धन्यवाद...

और नया पुराने