दोस्तों best bachpan shayari in Hindi में आपका स्वागत है। यहाँ आपको बचपन की स्कूल की यादें शायरी भी मिलेगी जो आपको बचपन के दोस्तो की भी याद दिलाएगी और जहाँ बचपन हो वहाँ प्यार तो रहता ही है।


बचपन की शायरी हिंदी में लिखने का मज़ा जो मुझे आया सच मे heart touching था तो आपको पढ़ने मे कितना मज़ा आएगा मै बता नही सकता। बचपन मे हम सब ने मज़े ही इतने किये होते है।


इस आर्टिकल में मैने मेरे बचपन की यादें शायरी जो लिखी है उसमे सच मे मेरा बचपन गुज़र और मै उसे अभी भी याद करता हु। क्या आप भी स्कूल की मस्ती में आपका बचपन याद करते है ? तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें शायद कुछ यादें ताज़ा ही जाए।


Heart Touching Bachpan Shayari In Hindi|बचपन की यादें शायरी


Heart Touching Bachpan Shayari In Hindi|बचपन की यादें शायरी
best bachpan shayari in Hindi image

Best bachpan shayari in Hindi


बहा ले गयी वो बचपन की यादें,

पता नहीं कहां ले गयी वो बचपन की यादें..!


Baha le gayi wo bachpan ki yadein,

Pata nahi kaha le gayi wo bachpan ki yadein..!



बचपन तो है बिता हमारा उसपे क्या रोना,

अब तो जवानी है मेरे यारों इसे क्यों खोने..!


Bachpan to hai bita hamara uspe kya rona,

Ab to jawani hai mere yaron ise kyu khona..!



ज़िन्दगी की राहों में कही खो गया है बचपन,

ढूंढ़ता रहता हु मै उसे,

पता नहीं कहा गया मेरा बचपन..!


Zindagi ki raho me kahi kho gaya hai bachpan,

Dhoondta rehta hu mai use,

Pata nahi kaha gaya mera bachpan..!



बचपन तो आया था थोड़ी देर के लिए,

मुझसे थोडा वक़्त बिता कर छोड़ जाने के लिए..!


Ae bachpan to aaya tha thodi der ke liye,

Mujhse thoda waqt bita kar chhod jane ke liye..!



ए बचपन सोचा न था मैने,

की तू भी चुरा लेगा मेरे वो दिन,

बता भी दे अब मुझको, 

कहाँ गए वोह मेरे बचपन के दिन..!


Ae bachpan socha na tha maine,

Ki tu bhi chura lega mere wo din,

Bata bhi de ab mujhko, 

Kahan gaye woh mere bachpan ke din..!



Bachpan par Shayari in hindi | Bachpan pe shayari | Bachpan ki shayari


ना थी रोने की वजह,

ना हसने का बहाना था,

बड़े जो हो गए हम,

भूल गए बचपन का भी ज़माना था..!


Naa thi rone ki wajah,

Naa hasne ka bahana tha,

Bade jo ho gaye hum,

Bhul gaye bachpan ka bhi zamana tha..!



वो इतवार भी था,

वो बचपन का यार भी था,

बिछड़ गए हम दोनों से,

बचपन का सुकून भरा वो प्यार भी था..!


Wo itwar bhi tha,

Wo bachpan ka yaar bhi tha,

Bichhad gaye hum dono se,

Bachpan ka sukun bhara wo pyar bhi tha..!



शौक था बचपन का,

दूसरों को खुश रखने का,

उम्र ऐसे बढ़ी की,

छोड़ दिया महंगे शौक रखने का..!


Shauk tha bachpan ka,

Dusro ko khush rakhne ka,

Umrah aise badhi ki,

Chhod diya mehange shauk rakhne ka..!



उसके नादानी पे मत जाओ तुम,

वो बचपन था उसके ऊपर मत जाओ तुम..!


Uske nadani pe mat jao tum,

Wo bachpan tha uske upar mat jao tum..!



ना किसी का डर रहता,

ना कोई मिलने की आस,

वो बचपन था,

रहो हमेशा उसके आस पास..!


Naa kisi ka dar rehta,

Naa koi milne ki aas,

Wo bachpan tha,

Raho hamesha uske aas paas..!



Bachpan ki school ki yaadein shayari


मन था स्कूल जाने का,

जब छोटा था मै,

बड़े होके पता चला,

झूट बोलता था मै..!


Mann tha school jane ka,

Jab chota tha mai,

Bade hoke pata chala,

Jhoot bolta tha mai..!



क्या दिन थे वो स्कूल के,

क्या मस्ती थी,

अब न वह दिन रहे,

न थोड़ी मस्ती भी..!


Kya din the wo school ke,

Kya masti thi,

Ab na woh din rahe,

Na thodi masti bhi..!



यादें तो बहुत आती है तेरी ए स्कूल,

बचपन जो था मेरा,

जो तेरे बाँहों में गुज़रा ए स्कूल..!


Yaadein to bahut aati hai teri aae school,

Bachpan jo tha mera,

Jo tere bahon me guzra aae school..!



स्कूल में जाना स्कूल से आना,

ये तो था बस एक बहाना,

मस्ती करते गुज़र गया बचपन का वो जमाना..!


School me jana school se aana,

Ye to tha bas ek bahana,

Masti karte guzar gaya bachpan ka wo jamana..!



याद आता है मुझे,

वो इमली के पेड़ पे चढ़ना,

और टीचर को देख के,

जल्दी से पेड़ से कूदना..!


Yaad aata hai mujhe,

Wo imli ke ped pe chadhna,

Aur teacher ko dekh ke,

Jaldi se ped se kudna..!



Bachpan ki dosti shayari in Hindi


ढल गए वह दिन,

गुज़र गयी वो रातें,

बड़े हो गए अब हम,

याद आती है वो बचपन के दोस्त की बातें..!


Dhal gaye woh din,

Guzar gayi wo raatein,

Bade ho gaye ab hum,

Yaad aati hai wo bachpan ke dost ki batein..!



तुझसे दूर न रह पाउँगा,

तुझसे मिलके दूर न जा पाउँगा,

तू रह जा मेरे पास ए मेरे दोस्त,

तुझसे जुदा मै कभी न हो पाउँगा..!


Tujhse dur na reh paunga,

Tujhse milke dur na ja paunga,

Tu reh ja mere paas ae mere dost,

Tujhse juda mai kabhi na ho paunga..!



देखते ही गले लग जाऊ,

ऐसी है ये मेरी दोस्ती,

इसे कुछ यु न समझो,

मेरी बचपन की है ये दोस्ती..!


Dekhte hi gale lag jau,

Aisi hai ye meri dosti,

Ise kuchh u na samjho,

Meri bachpan ki hai ye dosti..!



ज़िन्दगी के सफ़र मे चलते रह गए,

कुछ पीछे रह गए कुछ आगे निकल गए,

पता तो था मिलना है हमें,

कुछ रास्तों के मोड़ पर, 

बचपन के यार मिल गए।


Zindagi ke safar me chalte reh gaye,

Kuch pichhe reh gaye kuchh aage nikal gaye,

Pata to tha milna hai hame,

Kuchh raston ke mod par, 

Bachpan ke yaar mil gaye..!



भूल जाते है वो दोस्त आज के,

जो कुछ वक़्त साथ बिताते है,

मुझे हमेशा मेरे बचपन के दोस्त याद आते है..!


Bhul jate hai wo dost aaj ke,

Jo kuchh waqt sath bitate hai,

Mujhe hamesha mere bachpan ke dost yaad aate hai..!



Bachpan ka pyar shayari in Hindi


पता है मुझे तू बचपन का प्यार था मेरा,

किसने कहा कि तेरे प्यार से इंकार था मेरा..!


Pata hai mujhe tu bachpan ka pyar tha mera,

Kisne kaha ke tere pyar se inkaar tha mera..!



यू छोड़ चली जाती हो,

फिर वापस चली आती हो,

इसे क्या समझू मै,

सिर्फ प्यार या बचपन का प्यार..!


You chhod chali jati ho,

Fir wapas chali aati ho,

Ise kya samjhu mai,

Sirf pyar ya bachpan ka pyar..!



बचपन की चाहत को दिल से जुदा न करना,

जब मेरी याद आये तो मिलने की दुआ जरूर करना..!


Bachpan ki chahat ko dil se juda na karna,

Jab meri yaad aaye to milne ki dua jarur karna..!



बचपन का प्यार भी बड़ा साइलेंट होता है,

अगर दिख जाये तो आँखों ही आँखों से इज़हार होता है..!


Bachpan ka pyar bhi bada silent hota hai,

Agar dikh jaye to aankho hi aankho se izhaar hota hai..!



कुछ सिखा जाता है,

कुछ सिख के जाता है,

ये बचपन का प्यार है साहेब,

इसे कोई भुला नहीं पाता है..!


Kuchh sikha jata hai,

Kuchh sikh ke jata hai,

Ye bachpan ka pyar saheb,

Ise koi bhula nahi pata hai..!



मेरे बचपन की यादें शायरी


खेलता था मेरे बचपन मे यारा,

छूट गया अब बचपन का प्यार सारा,

अब कब लौट आएगी मेरे बचपन की यादें दोबारा..!


Khelta tha mere bachpan me yaara,

Chhoot gaya ab bachpan ka pyar saara,

Ab kab laut aayegi mere bachpan ki yaadein dobara..!



इश्क़ भी ऐसा हुआ मोबाइल से,

खेल का मैदान खाली पड गया,

और मोहल्ले की गलियां सुनसान..!


Ishq bhi aisa hua mobile se,

Khel ka maidan khali pad gaya,

Aur mohalle ki galiya sunsan..!



आज तो बचपन की यादें ही साथ है,

आज में क्या जीना सुकून तो बचपन के साथ है..!


Aaj to bachpan ki yaadein hi sath hai,

Aaj me kya jina sukun to bachpan ke sath hai..!



मेरे बचपन की यादें थी कुछ ख़ास,

बाकि सब कुछ लगे मुझे बकवास..!


Mere bachpan ki yaadein thi kuch khaas,

Baki sab kuchh lage mujhe bakwas..!



ज़िन्दगी की रेस में दौड़ता रह गया मै,

बचपन की मेरी यादें समेटे ले गया मै..!


Zindagi ki race mein daudta reh gaya mai,

Bachpan ki meri yadein samete le gaya mai..!



Childhood shayari hindi


मजबूरियाँ भी थी बड़े होने की ऐसी,

ज़िम्मेदारियाँ जो थी कुछ ऐसी,

पीछे छूट गए वो दिन ऐसे,

रह गयी बचपन की यादें हमेशा जैसी..!


Majburiyan bhi thi bade hone ki aisi,

Zimmedariyan jo thi kuch aisi,

Pichhe chhut gaye wo din aise,

Reh gayi bachpan ki yaadein hamesha jaisi..!



बारिश के पानी में भीग रहा था मै,

जैसे बचपन की कागज़ की कश्ती के साथ डूब रहा था मै..!


Barish ke pani me bhig raha tha mai,

Jaise bachpan ki kagaz ki kashti ke sath doob raha tha mai..!



गली मोहल्ले में बजते है जब ढोल नगाड़े,

बचपन की याद दिलाते है वो अफ़साने..!


Gali mohalle me bajte hai jab dhol nagade,

Bachpan ki yaad dilate hai wo afsane..!



हकीकत से रुबरु हो गए अब हम,

बचपन से बचपना खो गए अब हम..!


Hakikat se rubaru ho gaye ab hum,

Bachpan se bachpanaa kho gaye ab hum..!



कोशिश तो बहुत की थी, 

बचपन जैसा बनने की,

कोशिश तो बहुत की थी,

माँ के हाथ का मार खाने की..!


Koshish to bahut ki thi, 

Bachpan jaisa banane ki,

Koshish to bahut ki thi,

Maa ke hath ka mar khane ki..!


इसे भी पढ़े :


कुछ आखरी बचपन वाली शायरी पे बातें :


तो इस best bachpan shayari in hindi को पढ़के आपको कही बचपन तो नही याद आया ? जरूर आया होगा क्यों कि बचपन तो ऐसा ही होता है स्कूल का बचपन मासूम सा शरारती है ना।


इस आर्टिकल में कुछ मेरे बचपन की यादें कुछ आपके बचपन वाले किस्से जरूर होंगे और उम्मीद करता हु की आपको ये बचपन की शायरी पढके जरूर मज़ा आया होगा।

और नया पुराने