आज मै आपके लिए और भारत की आज़ादी के पर्व पर hindi poems on independence day पर कविता लाया हूं जिसे आपने जरूर पढ़ना चाहिए।आप सभी को पता है कि 15 अगस्त ये दिन हमारे लिए कितना महत्व रखता है।


15 अगस्त को हमारा प्यारा भारत देश अंग्रेजों की कैद से आज़ाद हुआ था। और देश को आज़ाद करने के लिए हमारे वीरों ने जान की बाज़ी लगा दी थी। बड़ी ही शान से शाहिद हुए थे हमारे वीर जवान उनको जज्बे को मै दिल से सलाम करता हु।


इन सभी वीरों के वजह से आज हमारा देश एक आज़ाद मुल्क है। और हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हुआ था इसीलिए हम ये दिन बड़े सम्मान से देश की आज़ादी के लिए मनाते है।


और इसीलिए हमने इस आज़ादी के पर्व पर कुछ 15 अगस्त पर हिंदी कविताएँ लिखी है जोकि आपको जरा हटके लगेगी और पसंद भी आएगी।


15 अगस्त पर हिंदी कविताएँ | Hindi Poems On Independence Day


15 अगस्त पर हिंदी कविताएँ | Hindi Poems On Independence Day
Hindi Poems on independence day image

Hindi poems on independence day


15 अगस्त का नया सवेरा


15 अगस्त का नया सवेरा,

आज लहराएगा तिरंगा प्यारा।


सबसे अलग है तिरंगा मेरा,

तीन रंगों का मेल है इसमें सारा।


इसके लिए जान कुर्बान रहती है,

देश के वीर जवानों का मेरे।


यह है प्यारा हिंदुस्तान मेरा,

हर बच्चे का दुलारा ये देश मेरा।


आँख कोई न डालो इसपे,

नहीं देख पाएगा वो कल का सवेरा।


लहू बहा के बना है देश मेरा,

इसको किसी ने नहीं है घेरा।


आज़ादी का है कल का सवेरा,

इसे है पहला सलाम मेरा।


15 अगस्त का नया सवेरा,

आज लहराएगा तिरंगा प्यारा।



15 अगस्त पर हिंदी कविताएँ


15 august ka naya savera,

Aaj lahrayega tiranga pyara..!


Sabse alag hai tiranga mera,

Tin rangon ka mel hai isme sara..!


Iske liye jaan kurban rehti hai,

Desh ke veer jawano ka mere..!


Yeh hai pyara hindustan mera,

Har bachhe ka dulara ye desh mera..!


Aankh koi na dalo ispe,

Nahi dekh payenga wo kal ka savera..!


Lahu baha ke bana hai desh mera,

Isko kisi ne nahi hai ghera..!


Azadi ka hai kal ka savera,

Ise hai pehla salam mera..!


15 august ka naya savera,

Aaj lahrayega tiranga pyara..!



poems on independence day in hindi


आज 15 अगस्त है


चलो चले अब स्कूल सभी हम,

आज 15 अगस्त है।


जल्दी उठ कर तैयार होकर,

हमे जाना आज स्कूल है।


चलो करे तयारी हम सब,

आज स्वतंत्रता दिन जो है।


जब तक मै नाहा के आती,

मम्मी कपडे प्रेस कर लेती।


मम्मी फिर नाश्ता बनाने जाती,

मै अपने कपड़े पहन हु लेती।


तयारी पूरी हो जाती,

फिर मै थोड़ा नाश्ता हुँ खाती।


फिर मेरी स्कूल बस दौड़ कर आती,

मुझे स्कूल वो फट से ले जाती।


स्कूल पहुँच के मै खुश हो जाती,

रोज से अलग नया नजारा पाती।


सभी तरफ रंग बिरंगी रंगोली दिख जाती,

मेरी नज़र उसपे ही जाती।


फूलों से स्कूल ग्राउंड सजाती,

क्लास की लड़कियां मुझे बुलाती।


सभी स्टूडेंट्स अब लाइन लगाते,

लाइन से वो खड़े हो जाते।


हमारा प्यारा तिरंगा जब फड़काते,

उसे देख सब सलामी है देते।


राष्ट्रगान को सभी है जाते,

जन गण मन सभी है कहते।


शहीदों को हम याद है करते,

उनको हम सब प्यार है करते।


चलो चले अब स्कूल सभी हम,

आज 15 अगस्त है।


चलो करे तयारी हम सब,

आज स्वतंत्रता दिन जो है।



Aaj 15 august hai कविता


Chalo chale ab school sabhi hum,

Aaj 15 august hai..!


Jaldi uth kar taiyar hokar,

Hume jaana aaj school hai..!


Chalo kare taiyari hum sab,

Aaj swatantrata din jo hai..!


Jab tak mai naha ke ati,

Mummy kapde press kar leti..!


Mummy phir nashta banane jati,

Mai apne kapde pahan hu leti..!


Taiyari puri ho jati,

Phir mai thoda nashta hu khati..!


Phir meri school bus daud kar aati,

Mujhe school wo phat se le jati..!


School pahunch ke mai khush ho jati,

Roj se alag naya najara pati..!


Sabhi taraf rang birangi rangoli dikh jati,

Meri nazar uspe hi jati..!


Phoolon se school ground sajati,

Class ki ladkiya mujhe bulati..!


Sabhi students ab line lagate,

Line se wo khade ho jate..!


Hamara pyara tiranga jab fadkate,

Use dekh sab salami hai dete..!


Rashtragan ko sabhi hai gate,

Jan gan man sabhi hai kehte..!


Shahidon ko hum yaad hai karte,

Unko hum sab pyar hai karte..!


Chalo chale ab school sabhi hum,

Aaj 15 august hai..!


Chalo kare taiyari hum sab,

Aaj swatantrata din jo hai..!



short poem on 15 august in hindi


दिन ये आया दिल में छाया,

बनके ये 15 अगस्त।


हिंदुस्तान के वीरोने लाया,

देके बलिदान ये 15 अगस्त।


देश को आज़ादी दिलाई,

इन हिंदुस्तान के वीरोने।


धरती पे अपना खून बहाया,

हिंदुस्तान के शहीद वीर जवानों ने।


हमको है नाज़ खुद पर,

रहते है हम हिंदुस्तान के गलियों में।


सदा रहेंगे ऋणी हम उनके,

हिंदुस्तान के वीर जवानों के।



देश को आज़ादी दिलाई 15 अगस्त कविता


Din ye aya dil me chhaya,

Banke ye 15 august..!


Hindustan ke veerone laya,

Deke balidan ye 15 august..!


Desh ko azadi dilai,

In hindustan ke veerone.!


Dharti pe apna khoon bahaya,

Hindustan ke shahid veer jawano ne..!


Humko hai naaz khud par,

Rehte hai hum hindustan ke galiyon me..!


Sada rahenge runi hum unke,

Hindustan ke veer jawano ke..!



15 अगस्त पर कविता हिंदी में


आओ बच्चो मैदान में आओ,

स्वतंत्रता का पर्व मनाओ।


15 अगस्त के दिन को मनाओ,

हिंदुस्तानी होने का गर्व मनाओ।


तिरंगे को ऊँचा फड़काओ,

देश का राष्ट्रगान तुम गाओ।


तिरंगे को सलामी दे जाओ,

तिरंगे को सम्मान दे जाओ।


शहीदों को तुम याद कर जाओ,

उनको अपना प्रेरणा स्थान बनाओ।


खुद को इतना बुलंदी पे ले जाओ,

भारत माँ का सुपत्र कहलाओ।


देश के लिए तुम कुछ भी कर जाओ,

भारत माँ की शान बन जाओ।


15 अगस्त को झंडा लेहराओ,

उसे और भी ऊँची सलामी दे जाओ।



15 august poems in hindi


Aao bachho maidan me aao,

Swatantrata ka parv manao..!


15 august ke din ko manao,

Hindustani hone ka garv manao..!


Tirange ko uncha fadkao,

Desh ka rashtragaan tum gao..!


Tirange ko salami de jao,

Tirange ko samman de jao..!


Shahido ko tum yaad kar jao,

Unko apna prerna sthan banao..!


Khud Ko itna bulandi pe le jao,

Bharat maa ka suptr kehlao..!


Desh ke liye tum kuch bhi kar jao,

Bharat maa ki shan ban jao..!


15 august ko Zenda lehrao,

Use aur bhi unchi salami de jao..!



स्वतंत्रता दिवस पर कविता


आओ स्वतंत्रता दिवस मनाये,

जय हिन्द जय भारत के नारे लगाए।


ऊँचा भारत का तिरंगा लहराए,

हम भारत वासी उसे सलामी दे जाये।


राष्ट्र गान हम सभी है गाये,

बड़े प्यार से तिरंगे को सम्मान दिलाये।


शहीद वीरों को हम याद कर जाये,

उनको प्यारे फूल चढ़ाये।


आओ आज़ादी का पर्व मनाये,

शहीदों को सम्मान दिलाये।


झंडा ऊँचा रहे हमारा,

गूंजे ये सारे जग में नारा।


है ये हमारा देश प्यारा,

सभी के लिए है जान से प्यारा।



Swatantrata diwas par kavita


Aao swatantrata divas manaye,

Jai hind jai bharat ke nare lagaye..!


Uncha bharat ka tiranga lehraye,

Hum bharat vasi use salami de jaye..!


Rashtra gaan hum sabhi hai gaye,

Bade pyar se tirange ko samman dilaye..!


Shahid veeron ko hum yaad kar jaye,

Unko pyare phool chadhaye..!


Aao azadi ka parv manaye,

Shahidon ko samman dilaye..!


Zanda uncha rahe humara,

Gunje ye sare jag me nara..!


Hai ye hamara desh pyara,

Sabhi ke liye hai jaan se pyara..!



इसे भी पढ़ें: school life hindi poem


कुछ बाते आखरी:


आशा करता हु की hindi poems on independence day आपको जरूर पसंद आयी होगी। इस आज़ादी के पर्व पर हम कुछ नया करने का संकल्प जरूर करे।


सभीने अनेवाले इस 15 अगस्त को गली मोहल्लों मे भारत का झंडा लहराए और देश को सम्मान दे। हमारे 15 अगस्त पर हिंदी कविताएँ में इसकी कविता की झलक आपने जरूर पढ़ी होगी।


देश को सम्मान दे शाहिद वीरों को याद करे और उन्हें सम्मान से श्रधांजलि अर्पित करे। जय हिंद जय भारत...

और नया पुराने